Nelson Mandela:Long walk to freedom by Nelson Mandela

Nelson Mandela:Long walk to freedom by Nelson Mandela CBSE/UP Board Class 10 NCERT English First Flight Book Lesson:-2 Exam oriented question answer, Tick the Correct Option, summary in hindi, match the following.

📚📚Chapter-2📚📚

📚📚Nelson Mandela 📚📚

Short Answer Type Questions_

Q.1. Where did the oath taking ceremony take place? (शपथ ग्रहण समारोह कहाँ पर हुआ ?) 
Ans. The ceremony took place in the Union Buildings of Pretoria. (शपथ समारोह प्रिटोरिया के केंद्रीय भवनों में हुआ।) 

Q. 2. What ideals did Mandela set out for the future of South Africa in his speech?(अपने भाषण में मंडेला ने दक्षिण अफ्रीका के भविष्य के लिये क्या आदर्श रखे ? ) 
Ans. Mandela set out ideals for the future of South Africa as he had deep feelings for his country and countrymen. He pledged to liberate all the people from poverty, deprivation and discrimination(मंडेला ने दक्षिण अफ्रीका के भविष्य के लिए आदर्श स्थापित किए क्योंकि उनके पास अपने देश और देशवासियों के लिए गहरी भावनाएँ थीं। उन्होंने सभी लोगों को गरीबी, अभाव और भेदभाव से मुक्त करने का संकल्प लिया। ) 

Q.3. How according to Mandela, had apartheid policy affected South Africa? (मंडेला के अनुसार रंगभेद रणनीति ने दक्षिण अफ्रीका पर क्या प्रभाव डाला? ) 
Ans. According to Mandela apartheid policy had affected South Africa deeply. It had created deep and lasting wound in the country and its people. It will take a long time to heal this wound. (मंडेला के अनुसार रंगभेद नीति ने दक्षिण अफ्रीका को गहराई से प्रभावित किया था। इसने देश और उनके लोगों में एक गहरा और स्थायी घाव पैदा कर दिया था। इस घाव को ठीक करने में लंबा समय लगेगा।) 

Q.4. What did Mandela think about the oppressor and the oppressed? (मंडेला ने जालिम (उत्पीड़क) और उत्पीड़ितों के बारे में क्या सोचे थे?)
Ans. Mandela thought that both the oppressor and the oppressed are robbed equally. A man who takes away another man's freedom is a prisoner of hatred. In the same way. If his freedom is taken away, then they both are without freedom. So both of them must be liberated. मंडेला ने सोचा कि उत्पीड़क और उत्पीड़ित दोनों को समान रूप से लूट लिया जाता है। एक व्यक्ति जो दूसरे व्यक्ति की स्वतंत्रता छीन लेता है वह घृणा का कैदी है। उसी तरह, अगर उसकी स्वतंत्रता छीन ली जाती है, तो वे दोनों स्वतंत्रता के बिना है। इसलिए दोनों को आजाद किया जाना चाहिए।

Q.5. What according to Mandela is true freedom? (मंडेला के अनुसार 'सच्ची आजादी' क्या है?)
Ans. According to Mandela, True freedom means freedom that is not obstructed in leading a lawful life. (मंडेला के अनुसार, “सच्ची आजादी का मतलब है कानूनन जीवन जीने में बाधा न बने ।) 

Q. 6. What are the twin obligations referred to by Nelson Mandela? (नेल्सन मंडेला ने कौन से दो दायित्वों के बारे में बताया है ?) 
Ans. According to Mandela, every man has two obligations in his life. The first is to his family, to his parents, wife and children, secondly, he has an obligation to his country, people and community.(मंडेला के अनुसार, हर आदमी के जीवन में दो दायित्व होते हैं। सबसे पहला उनके परिवार में उसके माता-पिता, पत्नी और बच्चे हैं। दूसरा, उसका अपने देश, लोगों और समुदाय के प्रति दायित्व है।) 

Q.7. What was unique in the inauguration ceremony ? (उद्घाटन समारोह में विचित्र क्या था?) 
Ans. It was really a unique occassion as for decades, this had been the seat of white supremacy. Now it was the oath taking ceremony day for South Africa's first democratic, non-racial government.( यह वास्तव में एक अनूठा अवसर था क्योंकि दशकों से, यह सफेद वर्चस्व की सीट थी। अब यह दक्षिण अफ्रीका की पहली लोकतांत्रिक, गैर-नस्लीय सरकार का शपथ ग्रहण समारोह दिवस था।) 

Q. 8. Describe the inauguration ceremony in simple words.
साधारण शब्दों में उद्घाटन समारोह का वर्णन करें।
Ans. It was the day of 10th May, 1994. The first democratic, non-racial government was to be installed. Moreover, from different countries participated in the ceremony. (यह 10 मई, 1994 का दिन था। पहली लोकतांत्रिक, गैर-नस्लीय सरकार को स्थापित किया जाना था। इसके अतिरिक्त, विभिन्न देशों के लोगों ने भी समारोह में भाग लिया।) 

Q.9. What did the generals and police officers do on that day ? उस दिन जनरल और पुलिस अफसरों ने क्या किया?
Ans. The generals and police officers were also their in Uniform. They had ribbons and medals on their chests. They saluted Mandela with great respect as Mandela was the first black President of South Africa. (अपनी वर्दी में सेनापति और पुलिस अधिकारी भी वहाँ थे। उनकी छाती पर रिबन और पदक थे। उन्होंने मंडेला को बड़े सम्मान के साथ सेल्यूट किया क्योंकि मंडेला दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति थे।) 

Q.10. What is the greatest wealth of a nation in Mandela's opinion? (मंडेला के अनुसार राष्ट्र की सबसे बड़ी सम्पत्ति क्या है ?) 
Ans. In Mandela's opinion, the greatest wealth of a nation is not minerals and gems but its good and honest citizens. मंडेला की राय में, एक राष्ट्र की सबसे बड़ी संपत्ति खनिज और रत्न नहीं है, बल्कि उसके अच्छे और ईमानदार नागरिक हैं।

Long Answer Type Questions__

Q.1. What does Mandela think about the patriots? Can they be repaid? (देश भक्तों के बारे में मंडेला क्या सोचते हैं? क्या उनकी कीमत चुका सकते हैं?)
Ans. Nelson Mandela thinks that the freedom and democratic government have all come only due to the great sacrifices of lots of patriots. They were those people who did not care about their lives and died for their citizens and country. They can not be repaid. (नेल्सन मंडेला सोचते हैं कि स्वतंत्रता और लोकतांत्रिक सरकार बहुत सारे देशभक्तों के महान बलिदानों के कारण ही आई है। ये वे लोग थे जिन्होंने अपने जीवन की परवाह नहीं की और अपने नागरिकों और देश के लिए मर गए। वे उनके कीमत नहीं चुका सकते थे।) 

Q.2. What does ideas Mandela Have about courage love and hate? (मंडेला के विचार हिम्मत, प्रेम और नफरत के विषय में क्या है?) 
Ans. Mandela understood that courage was not the absence of fear but the triumph over it. Being courageous also means being able to conquer fear. As both love and hatred arise from their heart; If they learn to hate, they can be taught to love.(मंडेला समझ गए कि साहस भय की अनुपस्थिति नहीं बल्कि उस पर विजय थी। साहसी होने का मतलब डर पर विजय पाने में सक्षम होना भी है। जैसे उनके दिल से प्यार और नफरत दोनों पैदा होते हैं;अगर वे नफरत करना सीखते हैं, तो उन्हें प्यार करना सिखाया जा सकता है।) 

Q. 3. Nelson Mandela was the hero of South Africa's freedom movement Comment.(नेल्सन मण्डेला दक्षिण अफ्रीका की आजादी आन्दोलन के हीरो थे। चर्चा करें।) 
Ans. Nelson Mandela was a real hero of South Africa's freedom movement. He performed his obligations for his family as well as his community. Although he was prevented from doing so, yet he did not stop and got discouraged. 
He became homeless. But he did not change his decision. And he raised his voice against racial system. He fought against it and at last got success. He became the first black President of South Africa.(नेल्सन मंडेला दक्षिण अफ्रीका के स्वतंत्रता आंदोलन के एक वास्तविक नायक थे। उन्होंने अपने परिवार के साथ-साथ अपने समुदाय के लिए अपने दायित्वों का निर्वाह किया। हालांकि ऐसा करने से उन्हें रोका गया था फिर भी वह नहीं रुके और न ही हतोत्साहित हुए।
वह बेघर हो गये। लेकिन उन्होंने अपना निर्णय नहीं बदला। और उन्होंने नस्लीय व्यवस्था के खिलाफ आवाज उठाई। उन्होंने इसके खिलाफ लड़ाई लड़ी और आखिर में सफलता पाई। वह दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बने। ) 
 
Q. 4. What were the difficulties faced by Nelson Mandela in achieving freedom for his people?( अपने लोगों की आजादी के लिये नेल्सन मंडेला को किन परेशानियों का सामना करना पड़ा?) 
Ans. sacrificed his life of comfort, family and home and plunged into the struggle for freedom. He believes in equality for all. He opposed the rule of Apartheid for which he was declared an outlaw. He was oppressed and tortured in jail for several years but he never broke.( उन्होंने आराम, परिवार और घर के अपने जीवन का बलिदान दिया और स्वतंत्रता के संघर्ष में डूब गए। वह सभी के लिए समानता में विश्वास करते हैं। उन्होंने रंगभेद के शासन का विरोध किया जिसके लिए उन्हें एक देशद्रोही घोषित किया गया। कई सालों तक जेल में उनका उत्पीड़न और अत्याचार हुआ लेकिन वो कभी नहीं टूटे.) 

Q. 5. What does Nelson Mandela refer to as an extraordinary human disaster? (नेल्सन मंडेला द्वारा "विशेष मानव विनाश का क्या तात्पर्य है?) 
Ans. By using the words 'an extraordinary human disaster' Mandela is referring to the practice of apartheid in South Africa. During this, there was racial segregation based on colour and the blacks suffered a lot. They weren't allowed to demand freedom or any right.('एक असाधारण मानव आपदा' शब्दों का उपयोग करके मंडेला दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद के प्रथा का उल्लेख कर रहे हैं। इस दौरान रंग के आधार पर नस्लीय अलगाव हुआ और अश्वेतों को बहुत नुकसान हुआ। उन्हें स्वतंत्रता या किसी अधिकार की मांग करने की अनुमति नहीं थी।)

Language Study ( MCQs )__

1. When was the inauguration day ?
(a) 10 May✔️
(b) 10 March
(c) 20 May
(d) 20 March

2. How many Deputy Presidents were elected ? 
(a) Two ✔️
(b) Three
(c) One
(d) None

3. It was a celebration of South Africa's first..........government.
(a) Autocratic racial 
(b) Democratic, non-racial✔️
(c) Democratic racial
(d) Monarch non-racial

4. What change brought international leaders to South Africa ? 
(a) End of Apartheid✔️
(b) Humanity
(c) Peace
(d) Trade negotiations 

5. What was it that the nation needed to be liberated from? 
(a) Poverty 
(b) Gender discrimination
(c) Deprivation
(d) All of the above✔️

6. The Spectacular array of South African jets a display of-
(a) Military's precision 
(b) Military's loyalty to democracy 
(c) Both (a) and (b) ✔️
(d) None of the above

7. Whom did Mandela want to thank but could not?
(a) His family
(b) White rulers 
(c) African patriots✔️
(d) Military who no longer exists

8. According to Mandela what is the greatest wealth of a Nation?
(a) Minerals
(b) Gems 
(c) Diamonds 
(d) People✔️

9. What did Mandela learn about courage?
(a) It is absence of fear 
(b) It is the triumph over fear✔️
(c) Both (a) and (b)
(d) None of the above

10. Why were two national anthems sung? (a) To emply unity
(b) To mark the end of racial discrimination
(c) To mark the end of gender
(d) Both (a) and (b)✔️

11. What comes more naturally to heart according to Mandela?
(a) Hatred
(b) Unity
(c) Love✔️
(d) Racial discrimination

12. Which party did Mandela join?
(a) Indian National Congress
(b) African National Congress ✔️
(c) National African Party
(d) He did not join any party

13. Who according to Mandela is not free?
(a) Oppressor 
(b) Oppressed
(c) Both (a) and (b)✔️
(d) None of the above

14. A man who takes away another man's freedom is ....... 
(a) White ✔️
(b) A prisoner of hatred
(c) Criminal
(d) Rude

15. What began Mandela's hunger for freedom?
(a) The fact that it had already been taken away from him✔️
(b) His obligation towards people
(c) His obligaton towards family
(d) He was born to fight.

Summary in Hindi___

उद्घाटन का दिन दस मई आ गई। मौसम चमकीला और साफ था। लेखक के पास शुभकामना देने के लिये दुनिया के काफी नेता आ रहे थे।
उद्घाटन का स्थान प्रेटोरिया में एक बड़े खुले स्थान में कार्यक्रम हुये। यहाँ पर दक्षिणी अफ्रीका की प्रथम गैर-वर्ण (अश्वेत) सरकार का संस्थापन करना था। उस दिन लेखक अपनी पुत्री जेनानी के साथ था। सर्वप्रथम मिस्टर डी क्लार्क को द्वितीय उपराष्ट्रपति की शपथ दिलाई गई। फिर थबोम्बेकी को प्रथम उपराष्ट्रपति की शपथ दिलाई गई। तब लेखक की बारी थी। उसे राष्ट्रपति की शपथ दिलाई गई। उसने संविधान की रक्षा करने और उसे मानने की शपथ ली। उसने व्यक्तियों की भलाई के प्रति लगाव रखने की भी शपथ ली। लेखक ने नई उत्पन्न हुई स्वतन्त्रता के बारे में बोला। उसने सभी अन्तर्राष्ट्रीय मेहमानों का धन्यवाद किया। यह न्याय, शान्ति और मानव सम्मान के लिए आम विजय थी। उसने अपने देशवासियों को गरीबी, दु:ख और भेदभाव से स्वतन्त्र करने की शपथ ली।
कुछ क्षणों पश्चात् दक्षिणी अफ्रीकी रंगीन जैट और हैलिकाप्टर वहाँ यूनियन की बिल्डिंगों पर उड़े। यह नई सरकार के प्रति उसके प्रजातन्त्र के लिए मिलिटरी (सैनिक) वफादारी थी। फिर अपनी छाती पर तमगे लगाए हुए मिलिटरी के उच्चतम जनरलों ने लेखक को सलाम किया।
दो राष्ट्रीय गानों द्वारा प्रतीकात्मक किया गया। गोरों ने नकोसी सिकेलल' गाया और कालों ने डाई स्टैम गाया। ये गणतन्त्र के पुराने गान थे।
उद्घाटन के उस दिन लेखक ने इतिहास के बारे में सोचा। पहले दशक में दक्षिणी अफ्रीका के व्यक्तियों ने अन्य काले व्यक्तियों के साथ अपने भेदभाव समाप्त कर लिए थे। अब यह व्यवस्था समाप्त हो गई थी। अब यह व्यवस्था थी जो सभी व्यक्तियों के अधिकारों और स्वतन्त्रता को पहचानती। हजारों व्यक्तियों की कुर्बानियों के पश्चात् यह शुभ दिन आया था। लेखक ने स्वयं को उन सभी व्यक्तियों का निचोड़ माना। उसे कष्ट था कि वह उनका धन्यवाद नहीं कर सकता था। रंगभेद की नीति ने उसके देश और उसके व्यक्तियों के अन्दर काफी समय तक रहने वाला घाव उत्पन्न कर दिया। इस नीति ने महान स्वतन्त्रता सेनानी उत्पन्न किए थे। ये थे ओलिवर ताम्बोज, वाल्टर सिसुलस, चीफ लथुलिस, युसुफ डाडूस आदि। वे असाधारण उत्साह, बुद्धिमत्ता और उदारता के व्यक्ति थे। देश खनिज पदार्थों में अमीर था। परन्तु इसका महान धन इसके व्यक्ति थे।
लेखक कहता है कि कोई भी व्यक्ति रंग और धर्म के कारण दूसरे व्यक्ति से घृणा करता हुआ जन्म नहीं लेता। उन्हें प्यार करना सिखाया जा सकता है। प्यार मानव दिल में प्राकृतिक रूप में आता है।
जीवन में हरेक व्यक्ति के दो कर्त्तव्य हैं अपने परिवार, अपने समाज और देश के प्रति लेखक को इन दोनों कर्तव्यों को पूरा करने में काफी कठिनाई आई। यह इसलिए था कि दक्षिणी अफ्रीका में काले व्यक्ति को यदि वह एक मनुष्य की तरह रहता तो सजा दी जाती थी। ऐसे व्यक्ति को अपने ही व्यक्तियों से अलग रहने के लिए मजबूर किया जाता इसलिए उसे अपने परिवार के प्रति कर्तव्यों को पूरा करने की अनुमति नहीं थी।
लेखक स्वतन्त्र पैदा हुआ वह स्वतन्त्र होने की भूख के साथ पैदा नहीं हुआ था। वह अपने पिता की आज्ञा पालने और अपने कबीले के रीति रिवाजों को मानने में स्वतन्त्र था परन्तु शीघ्र ही उसने महसूस किया कि उसकी स्वतन्त्रता एक भ्रम था। विद्यार्थी के रूप में वह पढ़ने और जाने की स्वतन्त्रता चाहता था। जोहान्सबर्ग में युवा के रूप में वह अपनी ताकत के अनुसार बनने की स्वतन्त्रता चाहता था। वह अपनी और परिवार की रोजी-रोटी की स्वतन्त्रता भी चाहता था।
परन्तु शीघ्र ही उसने देखा कि वह अपने भाइयों और बहनों की तरह वह भी स्वतन्त्र नहीं था तब वह अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस में सम्मिलित हो गया। स्वतन्त्रता की उसकी भूख उसके व्यक्तियों की स्वतन्त्रता के लिए अत्यधिक हो गई। उसकी व्यक्तियों की शान से रहने की स्वतन्त्रता की इच्छा ने उसे ताकत दी। उसने इसे बहादुर बना दिया। उसने उसे एक भिक्षुक की तरह रहने के लिए मजबूर कर दिया। लेखक जानता था कि अत्याचारों को अत्याचार सहन करने वालों की तरह स्वतन्त्र किया जाना चाहिए। एक व्यक्ति जो दूसरे की स्वतन्त्रता छीनता है वह घृणित हो जाता है। कोई भी व्यक्ति स्वतन्त्र नहीं है यदि वह किसी दूसरे की स्वतन्त्रता ले रहा है। दोनों अत्याचारी और अत्याचार सहन करने वालों से मानवता छिन जाती। 

👇इनके बारे में भी पढ़े ▼

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ